हमारे बारे में

खबरअड्डा, एक प्रयास है, सूचनाओं को विश्लेषित करके प्रस्तुत करने का। आज अधिकांश ख़बरें मात्र सतह तक सीमित होती हैं। भागदौड़ भरी ज़िन्दगी में शायद हम भी “शॉर्ट न्यूज” को बढ़ावा दे रहे हैं, लेकिन क्या वास्तव में खबर से सम्बंधित विषयों को ना जाना जाए? ख़बरों के साथ ही विषय को जानना भी महत्वपूर्ण होता है।

यहां सामाजिक, आर्थिक, खबरों के साथ देश भर में घट रही बड़ी खबरों का गहराई के साथ विश्लेषण किया जाता है। यहाँ आपको एक ही जगह खबरों के हर पहलू की पूर्ण जानकारी मिलेगी। खबरअड्डा के माध्यम से प्रयास किया जा रहा है, एक खबर के सभी पहलुओं को समाहित किए जाने का।

सभी पहलुओं को समाहित करने के कारण, यहाँ ना तो विचारधारा सम्बंधित क्लेश मिलेगा, ना ही सामजिक/धार्मिक विभेद। भारत जैसे विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र में मीडिया के वर्तमान माहौल को विश्लेषण और तथ्यों के पथ पर दोबारा लाना होगा। सम्पादकीय और आर्थिक स्वतंत्रता की भी इसमें अहम् भूमिका है।

हम नागरिक पत्रकारिता को भी बढ़ावा देते हैं, जिससे हर राज्य के आसपास की घटना और बड़ी परेशानियों से भी लोग रूबरू हो सकें। खबरों के साथ ही यहां आप, यादों का पिटारा भी अपने शब्दों के जरिये खोल सकते हैं। इसका जरिया कहानी, कविता, और डायरी का पन्ना भी हो सकता है ।

खबरअड्डा लोगों तक, घटनाओं को सिर्फ और सिर्फ खबरों के रूप में रखता है। यहाँ खबर के पक्ष और विपक्ष के साथ ही उसके तथ्यों को भी रखा जाता है। इस तरह हम पाठक तक पूरी जानकारी पहुँचाते हैं, जिससे पाठक स्वयं तय करे कि क्या सही है और क्या गलत।

खबरड्डा को हिंदी वर्ग से आये लोगों को ध्यान में रख कर बनाया गया है। अक्सर कई महत्वपूर्ण खबरें अंग्रेजी में मौजूद रहती हैं जिन्हें पढ़ने, समझने में उन्हें कई दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इसलिए खबरअड्डा हर बड़ी खबर का पूरा विश्लेषण, आसान भाषा में उपलब्ध कराता है।

खबरअड्डा एक आज़ाद पत्रकारिता की शुरुआत है, जो नई सोच और शब्दों की आज़ादी से आगे बढ़ रही है। 

इन सभी स्वतंत्रताओं से परिपूर्ण खबरअड्डा प्रयासशील है, विश्लेषणात्मक, तथ्यपरक पत्रकारिता के लिए।